भोले भण्डारी- षष्ठः पाठ

अंधेर नगरी, चौपट राजा “अपना देश बेशक महान है, सौ में से निन्यान्वे बईमान हैं…” ये फिल्मी डॉयलॉग देश और देशवासियों के साथ कुछ ऐसा चिपका है कि सालों से सत्ता परिवर्तन के बावजूद ईमानदारी की शीतल बयार देश में बहने का नाम ही नहीं ले रही है। अपने शासन के चरम पर किसी प्रधानमंत्री […]